Personal tools
आप यहाँ हैं होम (घर) स्नातक विद्यालय विषय दिशानिर्देश

विषय दिशानिर्देश

टाटा मूलभूत अनुसंधान संस्थान

 

विषय मार्गदर्शन और प्रक्रियाएँ: विज्ञान शिक्षा

 

(अनुच्छेद 2 के डीम्ड विश्वविद्यालय के नियमों के अधीन।)

 

विज्ञान शिक्षा में टीआईएफआर का स्नातक कार्यक्रम विज्ञान शिक्षा विषय बोर्ड द्वारा तैयार किए गए यहाँ दिए हुए बुनियादी मार्गदर्शन और प्रक्रियाओं का अनुगमन करता है।

 

1. डिग्रियाँ, कार्यक्रम और योग्यता

डिग्रियाँ: विज्ञान शिक्षा में पीएच. डी.

कार्यक्रम:

एम.एस. कार्यक्रम:

एम.फिल.कार्यक्रम:

इंट. पीएच.डी. कार्यक्रम:

पीएच.डी. कार्यक्रम: होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र, विज्ञान शिक्षा में दर्शन के डॉ. की उपाधि देता है। पीएच.डी. डिग्री के क्षेत्र के रूप में विज्ञान शिक्षा की व्याख्या गणित शिक्षा, प्रौद्योगिकी शिक्षा और अन्य सम्बद्ध क्षेत्रों सहित की जानी चाहिए।


पात्रता:

 

(i)  किसी भी प्राकृतिक विज्ञान में मास्टर (एम.एससी.) की डिग्री/गणित/साँख्यिकी/कम्प्यूटर और सूचना विज्ञान/फार्मास्युटिकल विज्ञान या कोई अन्य सम्बद्ध क्षेत्र, या

(ii) इंजीनियरिंग या चिकित्सा (बी.टेक./ बी.ई./ एम.बी.बी.एस. या बराबर), या

(iii) एम.ए./ एम.एस.डब्ल्यू. या सामाजिक और व्यावहारिक विज्ञान, मनोविज्ञान/ भाषाविज्ञान/ समाजशास्त्र/ अर्थशास्त्र/ मानवविज्ञान या कोई सम्बद्ध क्षेत्र में परास्नातक।

 

पार्ट टाइम / बाह्य विद्यार्थी: अभ्यर्थी जो अंशकालिक या बाह्य विद्यार्थी के रूप में आवेदन करना चाहें तो उन्हें इसकी अनुमति है। ऊपर दी हुई शैक्षिक योग्यताओं के अलावा, अभ्यर्थी जो टीआईएफआर या दूसरी संस्थाओं में कार्यरत हैं (शिक्षक सहित) को अंशकालिक/ बाह्य विद्यार्थी के रूप में प्रवेष लेने के लिए अपने  संगठनों से पूर्व मंज़ूरी की ज़रूरत है।

 

 

2. प्रवेष प्रक्रिया
पीएच. डी. कार्यक्रम:

पीएच.डी. कार्यक्रम के लिए यहाँ एक वार्षिक प्रवेष परीक्षा होती है। योग्य अभ्यर्थी पहले लिखित परीक्षा के आधार पर परखे जाते हैं। अभ्यर्थी जो लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। जो परीक्षा का मुख्य भाग है। अपवाद के मामलों में, विषय बोर्ड के निर्णय से खास आशाजनक उम्मीदवार के लिए एक खास प्रवेष परीक्षा वर्ष के किसी भी समय आयोजित कराई जा सकती है।

विदेशी विद्यार्थियों के लिए प्रावधान: ऊपर लिखे खास प्रवेष परीक्षा के प्रावधान विदेश के आशाजनक अभ्यर्थियों के लिए भी हैं।

 

3. कार्यक्रमों का विवरण

पीएच.डी. कार्यक्रम: विज्ञान शिक्षा में पीएच. डी. में नामांकन कराने वाले विद्यार्थियों को तीन सेमेस्टर के कोर्स कार्य से गुज़रना होता है। कोर्स कार्य पूरा करने के पश्चात उन्हें योग्यता परीक्षा देनी होती है। विद्यार्थियों से अपेक्षा रहती है कि वे एक विषय और एक सलाहकार का चयन कर लें और योग्यता परीक्षा उत्तीर्ण करने के छः महीने के अंदर अपने पीएच.डी. डिग्री के लिए पंजीकरण करा लें। सामान्यतः अपेक्षा रहती हे कि विद्यार्थी पीएच.डी. थीसेस, योग्यता परीक्षा उत्तीर्ण करने के 3 या चार साल में समाप्त कर दे। यह कार्यक्रम एक थीसेस परीक्षा के लिए  पीएच.डी. थीसेस जमा करने  पर खत्म होता है। सफल अभ्यर्थियों को टीआईएफआर की विज्ञान शिक्षा की पीएच.डी. डिग्री से नवाज़ा जाता है। सार जमा करने के लिए कम से कम दो वर्ष के समय की निवास अवधि आवश्यक है। पीएच.डी. डिग्री के लिए नामंकन के बाद कम से कम दो वर्ष की आवश्यकता होती है। एचबीसीएसई  में पीएच.डी. कार्यक्रम का पाठ्यक्रम दो घटकों को समाहित करता है: (1) ग्रेजुएट कोर्स और (2) क्षेत्र कार्य एवं परियोजना कार्य। हर पीएच.डी. विद्यार्थी बाह्य विद्यार्थी एवं अंशकालिक भी शामिल होते हैं, सभी को 36 क्रेडिट के पाठ्यक्रम कार्य को पूर्ण करने की अपेक्षा होती है। जिनमें से 25 क्रेडिट आवश्यक रूप से ग्रेजुएट कोर्स के समय प्राप्त होने चाहिये और कम से कम 4 क्रेडिट क्षेत्र कार्य एवं परियोजना कार्य के जरिये

 

Document Actions